3rd International Young Scientist Congress(IYSC-2017).  International E-publication: Publish Projects, Dissertation, Theses, Books, Souvenir, Conference Proceeding with ISBN.  International E-Bulletin: Information/News regarding: Academics and Research

खाप क्षेत्र के अंतगर्त गोत्र और वैवाहिक नियम “हरियाणा (भारत) के विशेष संदर्भ में”

Author Affiliations

  • 1अहिंसा और शांति अध्ययन विभाग, महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा, महाराष्ट्र, भारत

Res. J. Language and Literature Humanities, Volume 4, Issue (2), Pages 1-7, February,19 (2017)

Abstract

प्रस्तुत आलेख खाप पंचायत के अंतरगर्त गोत्र और उनके वैवाहिक नियम पर आधारित हैं| जाट गोत्रों कि संख्या 2500 से 2700 से अधिक का विवरण मिलता हैं | पिछले 20 साल से हरियाणा और पश्चिम उत्तर प्रदेश में बसे जाट समुदाय के गांवों में विवाह संबंधित सामाजिक मान्यता तथा क़ानूनी वैधता को लेकर के अनेक प्रकार के विवाद और हिंसक घटनायेँ हुई हैं| गोत के लोग किसी गाँव में यहाँ के सभी गाँव के दूसरे से गोत्र से जुड़े होने के कारण उस गाँव के सभी लोग रिश्तें के अंतरगर्त आने लगते हैं | अर्थात इन सभी गाँव में रहने वाले सभी लड़के और लड़की एक दूसरे के भाई और बहन के साथ-साथ एक दूसरे के गाँव की बेटी लगने लगती हैं| जिसका परिणाम यह होता हैं की गाँव के गाँव में शादी नहीं की जाती हैं| ऐसा इसलिए की कोई अपनी बेटी का विवाह अपने भाई के साथ नहीं करेगा| यदि कोई कर भी लेता हैं तो गाँव की बेटी होने के कारण उसे कोई अपने गाँव की बहू स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं होता हैं |

References

  1. पाण्डेय गणेश (2008). भारतीय सामाजिक व्यवस्था. पृ. 96
  2. कोसंबी डी.डी. (2016). विचारधारा और अन्य लेखन में संयुक्त विधिया, पृ. 7 http://www.arvindguptatoys.com/ arvindgupta/ddkindopartone.pdf
  3. भारद्वाज सूरजभान (2011) पंचायत और गोत्र: एक एतिहासिक विश्लेषण, उद्भभावना. गाजियाबाद, पृ. 12
  4. स्वदेशी ब्लाक पोस्ट (2014). देखे, क्या हैं गोत्र का रहस्य एवं महत्व, उपलब्ध. http://savdeshi.blogspot.in/2014/ 09/starting-of-gotra.html
  5. अग्रवाल वासुदेवशरण (1996) पाणिनीक़ालीन भारतवर्ष, पृ. 106
  6. मुखर्जी राधाकुमुद (1990) अनुवादक, अग्रवाल, वासुदेवशरण, हिन्दू सभ्यता. पृ. 137
  7. बाशम ए.एल., अनुवादक पांडेय वेकटेशचंद्र (2016), अदभूत भारत पृ. 108-109, http://bharatdiscovery.org/india
  8. पाण्डेय राजबली (2006). हिंदू संस्कार. पृ. 272
  9. एंगल्स फ्रेड़रिख (2014). अनुवादक और संपादक, नरेश “नदीम” परिवार, निजी संपति और राज्य, पृ. 130
  10. रिपोर्ट, अमरउजाला, चंडीगढ़, (2015), विवाह के सम्बन्द में खाप पंचायत के महत्वपूर्ण निर्णय. Available at,http://Chandigarh.amarujala.com/feature/city-news-chd/important-decisions-of-khap-panchayat-at-marriage-issu-hindi-news/ मई, 30,
  11. रिपोर्ट, चौधरी सिंह, काबुल, (2016) अखिल जाट युवा संघ. Available at, http://akhiljaatyuvasangh.com/ page.php?id=81
  12. रिपोर्ट (2013). गठ्वाल खाप रेलाक्सेस गोत्र विवाह नियम “हमारे संवाददाता” जून, 17, Available at, http://www.tribuneindia.com/2013/20130681/Haryana.htm12
  13. रिपोर्ट (2012). कलेक्शन खाप पॉजिटिव सोसिअल वेर्दिक्ट्स, पेज २, अप्रैल, 16, Available at, http://www.jatland.com/forums/showthread.php/30884-collection-khap-s-posiive-social-verdictspage2
  14. रिपोर्ट (2013), शादी के लिए हां, लेकिन गांव में एन्ट्री नहीं, March, 2, Available, at, http://hindi.oneindia/in/news /2013/02/03/haryana-khap-panchayat-softens-onlove-marriages-226349.html/
  15. दूतीय सर्व गोत्र मुखिया महा सम्मेलन, 6 सितंबर, (2009). ग्रामीण भारत अधिकार मंच, स्थान, सर छोटू राम पार्क, सिविल रोड, छोटू चौक, रोहतक, आयोजक और प्रकाशक, हरियाणा नवयुवक कला संगम, रोहतक, 48, सैक्टर-1, रोहतक-124001.
  16. कुंडु सतीश कुमार, रणसिंह, पूर्व प्रधान, अठगाँमा, गोत्रा मुखिया, (2002). सर्वगोत्र खाप मुखिया महासम्मेलन, 8, सितंबर, 2002 ग्रामीण भारत अधिकार मंच, स्थान, सर छोटू राम पार्क, सिविल रोड, छोटू चौक, रोहतक, आयोजक और प्रकाशक, हरियाणा नवयुवक कला संगम, रोहतक, 48, सैक्टर-1, रोहतक-124001 पृ. 12
  17. दहिया रामफल सिंह (2010). दहिया गोत्र मुखिया, पृ.12
  18. सिंह सत्यवीर (2010).ओहलान गौत्र मुखिया, सरपंच, नयाबांस, पृ.13
  19. चौधरी सिंह, महताब राणा (2010). गोत्र प्रतिनिधि, पृ.14
  20. कामरेड सिंह, रघुवीर (2010). गोत्र प्रतिनिधि, पृ.14
  21. दहिया सुरजभान (2010). दहिया स्मृति पृ.1
  22. हरियाना के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (2012). सर्व खाप पंचायतों के द्वारा लिखा गया पत्र | जिसकी प्रति शोधर्थी के पास उपलब्ध हैं |
  23. सिंह रणवीर (2009). गोत्र खाप में विवाह का वैज्ञानिक आधार एवं जाट समाज की चिंताओं और समस्याओं का निराकरण समाज, विज्ञान, खाप और मीडिया, ग्रामीण भारत अधिकार मंच, 221 माडल टाउन, रोहतक.
  24. चौधरी डी.आर. (2013). अनुवादक कुमार मुकेश, खाप पंचायतों की प्रासंगिकता, 26